Blog
Home > Blogs > जीरा खाने से दूर होती है एसिडिटी, जानें 8 घरेलू उपाय

जीरा खाने से दूर होती है एसिडिटी, जानें 8 घरेलू उपाय

जीरा खाने से दूर होती है एसिडिटी, जानें 8 घरेलू उपाय

November 03, 2019

पेट में प्राकृतिक रूप से ही एसिड बनता और रिलीज़ होता है। कई बार ये प्रक्रिया ठीक तरह से नहीं हो पाती है या कुछ चीज़ों की वजह से इस प्रक्रिया में रुकावट आ जाती है जिससे पेट में एसिड बनने लगता है। इससे पेट दर्द, एसिडिटी और असहजता महसूस होने लगती है। भोजन के दौरान जब लोअर ईसोफेगल स्पिंचटर (पेट में प्रवेश के लिए वाल्‍व) ठीक तरह से बंद नहीं होता है या बंद होने के समय पर खुला रहता है तो इस वजह से भोजन वापिस भोजन नली में आ जाता है। इससे पेट में प्राकृतिक और गैर-हानिकारक एसिड बाधित होता है जिससे भोजन वापिस भोजन नली में चला जाता है और एसिडिटी एवं सीने में जलन होने लगती है।

ज्‍यादा खाना खाने, खाने के तुरंत बाद लेटने, अधिक वजन होने, रात को सोते समय कुछ खाने, शराब, कार्बोनेटेड ड्रिंक्‍स, कॉफी, चाय, धूम्रपान, प्रेगनेंसी के साथ-साथ कुछ दवाओं और खट्टे फलों, टमाटर, चॉकलेट, लहसुन, प्‍याज, तैलीय या मसालेदार खाने की वजह से एसिड रिफलक्‍स होता है। अगर आप पेट से जुड़ी परेशानियों जैसे कि एसिडिटी, सीने में जलन और पेट दर्द के लिए कोई दवा नहीं लेना चाहते हैं तो Gas-O-Fast जीरा सैशे बिना किसी साइड इफेक्‍ट के आपकी मदद कर सकता है। Gas-O-Fast के इस सैशे में जीरे के गुण मौजूद हैं जो कि एसिडिटी और एसिड रिफलक्‍स के लिए बेहतरीन और किफायती नुस्‍खा है।

भारत के हर घर की रसोई में जीरे का इस्‍तेमाल किया जाता है। जीरे में स्‍वास्‍थ्‍य को लाभ पहुंचाने वाले कई गुण होते हैं। कई वर्षों से एसिड रिफलक्‍स और गैस में जीरे को फायदेमंद माना जाता है। जीरे में प्राकृतिक तेल होते हैं जो लार ग्रंथियों को उत्तेजित कर पाचन को बढ़ाते हैं। ये पेट दर्द और पेट में जलन को दूर करने में भी असरकारी है। रोज़ जीरे के सेवन से दस्‍त, जी मितली, पेट फूलने और पेट से जुड़ी कई समस्‍याओं से छुटकारा मिलता है।

जीरे के पानी में फाइबर और मिनरल्‍स होते हैं जो पाचन में सुधार कर मल त्‍याग की क्रिया को ठीक करते हैं। पाचन ठीक होने से मेटाबोलिक रेट सही रहता है जिससे वजन कम करने में भी मदद मिलती है। जीरे से पाचक एंजाइम्‍स निकलते हैं जिससे पेट फूलने की दिक्‍कत कम होती है और शरीर में अनावश्‍यक पानी के जमने की भी दिक्‍कत नहीं रहती है। गैस और एसिड रिफलक्‍स के लिए भी जीरा बेहतरीन घरेलू नुस्‍खा है और आप बड़ी आसानी से Gas-O-Fast जीरा सैशे के रूप में जीरे के गुणों को पा सकते हैं। Gas-O-Fast जीरा से न केवल जीरे के गुण मिलते हैं बल्कि ये कुछ ही सेकेंड में एसिडिटी से राहत दिलाने में प्राकृतिक औषधि के रूप में काम करता है।

एसिडिटी कम करने के लिए जीरे का कैसे इस्‍तेमाल करें:

पहला तरीका

एक चम्‍मच जीरा लें और उसे 10 से 15 मिनट के लिए दो कप पानी में उबाल लें। जब जीरा पूरी तरह से पानी में घुल जाए तो गैस बंद करके पानी को ठंडा होने दें। अब पानी को छान कर पूरे दिन में तीन बार भोजन करने के बाद पीएं। इससे एसिड रिफलक्‍स और गैस की प्रॉब्‍लम से छुटकारा मिलता है।

दूसरा तरीका

अपने खाने में जीरे का इस्‍तेमाल करना शुरु करें। दालों, चाव्‍ल, बींस, हरी सब्जियों आदि में जीरा डालें। जीरे से खाने का स्‍वाद भी बढ़ जाता है।

तीसरा तरीका

साबुत जीरा लें और उसे एक पैन में तब तक भूनें जब तक कि ये हल्‍का भूरा न हो जाए। इसे ठंडा होने दें और फिर ग्राइंडर में पीस लें। आप इसका इस्‍तेमाल मसालों के तौर पर कर सकते हैं।

चौथा तरीका

रातभर के लिए जीरे को पानी में भिगोकर रखें और इसे सुबह खाली पेट लें। पानी में भिगोने पर जीरा फूल जाता है और इसके जरूरी पोषक तत्‍व पानी में घुल जाते हैं जिससे पानी का रंग हल्‍का पीला हो जाता है। इसका स्‍वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें नींबू का रस या दालचीनी मिला सकते हैं। इस पानी को दिन में दो बार लंच और डिनर के बाद पीएं।

पांचवा तरीका

एक गिलास पानी में रातभर के लिए जीरा भिगो दें और अगले दिन पानी को उबाल लें। ठंडा होने के बाद इसे पी लें।

छठा तरीका

एक चम्‍मच जीरा लें और खाली पेट इसे एक गिलास गुनगुने पानी के साथ पी लें। इससे गैस, पेट फूलने, सीने में जलन, पेट में जलन, पेट दर्द और पेट से जुड़ी अन्‍य व्‍याधियां दूर होंगीं।

सातवां तरीका

जीरे का पीसकर पाउडर बना लें और फलों या सलाद पर इसे बुरक कर खाएं। इससे भी आपको जीरे के गुण और फायदे मिल जाते हैं।

आठवां तरीका

दाल और कढ़ी आदि में जीरे का तड़का लगाएं। इससे स्‍वाद तो बढ़ता ही है साथ ही सेहत भी अच्‍छी रहती है।

इस सबके अलावा आप Gas-O-Fast से भी एसिडिटी, पेट में जलन, गैस और एसिड रिफलक्‍स जैसी कई बीमारियों से राहत पा सकते हैं।


Categories :

Disclaimer This blog solely intended for the educational/informational/awareness purposes and is not a substitute for any professional medical advice, diagnosis or treatment. Please consult your doctor/healthcare professional before acting on the information provided on the blog. Reliance on any or all information provided in the blog, is solely at your own risk and responsibility. Mankind Pharma Limited shall not be held liable, in any circumstance whatsoever.

Your Thoughts