Blog
Home > Blogs > पेट में गैस बनने के कारण, लक्षण और इससे निजात पाने के उपाय-

पेट में गैस बनने के कारण, लक्षण और इससे निजात पाने के उपाय-

पेट में गैस बनने के कारण, लक्षण और इससे निजात पाने के उपाय-

May 21, 2019

शरीर के कई महत्‍वपूर्ण तंत्रों में से एक पाचन तंत्र भी है। पेट से जुड़ी कई समस्‍याओं में पेट में गैस बनना भी शामिल है। बच्‍चों से लेकर बुजुर्गों तक, हर उम्र के व्‍यक्‍ति को अपने जीवन में कभी न कभी पेट में गैस बनने की शिकायत होती ही है।


पेट में गैस बनना आम समस्‍या है लेकिन अगर समय पर इसका इलाज न किया जाए तो ये कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकती है। आज इस लेख के ज़रिए हम आपको पेट में गैस बनने के कारण, लक्षण और उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं।


पेट में गैस बनने के कारण


•    ओवरईटिंग
•    ज्‍यादा देर तक कुछ न खाने
•    तीखा या चटपटा खाने
•    मुश्किल से पचने वाला भोजन करना
•    भोजन को चबा-चबाकर न खाना
•    अत्‍यधिक तनाव
•    शराब का सेवन करना
•    किसी बीमारी या दवा के कारण


इसके अलावा सिगरेट करने, च्‍यूंइगम खाने और सामान्‍य मात्रा से अधिक वायु निगलने के कारण भी पेट में गैस बनने लगती है। गैस बनाने वाले खाद्य पदार्थों जैसे कि राजमा, छोले, गोभी एवं चाय आदि का सेवन करना।


पेट में गैस बनने के लक्षण


•    बार-बार गैस पास करना
•    पाद में बदबू आना
•    डकार ज्‍यादा आना
•    पेट फूलना या पेट में सूजन आना
•    पेट दर्द और बेचैनी होना
अगर पेट में गैस बनने के कारण पेंठ में गंभीर ऐंठन, दस्‍त, कब्‍ज, मल में खून आना, बुखार, उल्‍टी और जी मितली एवं पेट के दाहिने ओर दर्द होने पर आपको डॉक्‍टर के पास जाकर जांच करवानी चाहिए।


पेट में गैस में परहेज


•    अगर आपके पेट में बहुत ज्‍यादा गैस बन रही है तो आपको कुछ चीजों से परहेज करने की जरूरत है। इन चीजों से दूर रह कर आप पेट में गैस बनने की दिक्‍कत को कम कर सकते हैं।
•    सिगरेट पीते समय सांस के साथ धुआं खींचने पर हम अतिरिक्‍त हवा भी निगल जाते हैं। इसकी वजह से पेट में गैस बनने लगती है।
•    कार्बोनेटेड पेय पदार्थों का सेवन करने से भी गैस बनती है इसलिए इनसे दूर रहें।
•    च्‍युइंगम या किसी सख्‍त कैंडी को चबाते समय मुंह में अतिरिक्‍त हवा चली जाती है जिससे पेट में गैस बनने लगती है।
•    कभी-कभी हम सीने में जलन होने पर कोई दवा या अन्‍य उपचार ले लेते हैं। ये भी पेट में गैस बनाती हैं।


पेट में गैस बनने से बचने के उपाय


•    अगर अपने आहार में कुछ विशेष खाद्य पदार्थों जैसे कि राजमा, मटर, बंदगोभी, प्‍याज, फूलगोभी, ब्रोकली, मशरूम एवं साबुत अनाज को शामिल नहीं करते हैं तो पेट में गैस बनने की संभावना कम हो सकती है।
•    बीयर तथा कार्बोनेटेड ड्रिंक्‍स से भी पेट में गैस बनने लगती है। अगर आपके पेट में लगातार गैस बन रही है तो इन चीजों का सेवन कम या बंद कर दें। पेट में गैस बनने की शिकायत कम होने पर आप कम मात्रा में इन चीजों को ले सकते हैं।
•    कभी-कभी दूध या दूध से बनी चीजों के कारण भी पेट में गैस बनने लगती है। लेक्‍टोज़ इंटोलरेंस की स्थिति में ऐसा ज्‍यादा होता है। इस समस्‍या से ग्रस्‍त व्‍यक्‍ति को दूध से बने उत्‍पादों को पचाने में मुश्किल आती है।
•    आप जो भी खरीद रहे हैं उसमें लेक्‍टोज़ की मात्रा कम होनी चाहिए या फिर ऐसी चीजें खरीदें जिसमें लेक्‍टोज़ बिलकुल भी न हो।
•    अधिक वसायुक्‍त भोजन करने से पाचन शक्‍ति कम हो जाती है। इसकी वजह से न पचने वाला खाना पेट में रहता है और गैस बनाने लगता है।
•    वैसे तो फाइबर अनेक गुण होते हैं लेकिन कुछ उच्‍च फाइबरयुक्‍त खाद्य पदार्थ खाने की वजह से पेट में गैस भी बन सकती है। पेट में गैस अधिक बनने पर अपने आहार में फाइबर का सेवन कम या बिलकुल बंद कर दें। गैस कम होने पर धीरे-धीरे फाइबर को फिर से भोजन में शामिल कर सकते हैं।


पेट में गैस से कैसे बचें


•    धीरे-धीरे एवं चबा-चबा कर खाने से गैस नहीं बनती है। आराम से खाने पर मुंह में हवा कम जाती है जिससे पेट में गैस नहीं बन पाती है। इसलिए आराम से खाने की कोशिश करें।
•    खाना खाने के आधे घंटे बाद पैदल चलना बहुत जरूरी है। इससे खाया गया भोजन आसानी से पच जाता है और पाचन क्रिया ठीक रहती है। ऐसा करने से पेट में कभी गैस नहीं बनती है।
 

अगर आपको पेट में गैस बनने की बहुत ज्‍यादा शिकायत रहती है तो इसे नज़रअंदाज न करें। हर बार पेट में गैस बनने पर कोई दवा खाने की बजाय आप Gas-o-fast का सेवन कर सकते हैं। Gas-o-fast पेट से जुड़ी सभी समस्‍याओं को दूर करने में असरकारी है।

 




Your Thoughts