Blog
Home > Blogs > पेट में गैस बनने के कारण

पेट में गैस बनने के कारण

पेट में गैस बनने के कारण

July 01, 2019

हमारे शरीर की सबसे महत्‍वपूर्ण प्रणालियों में पाचन तंत्र भी शामिल है। हम जो कुछ भी खाते या पीते हैं वो सब पाचन तंत्र से होकर गुज़रता है। कई बार भोजन के ठीक तरह से न पचने की वजह से पेट से जुड़ी परेशानियां पैदा होने लगती हैं। पाचन तंत्र से जुड़ी सबसे सामान्‍य समस्‍याओं में से एक पेट में गैस बनना भी है। 


कुछ लोगों के पेट में सामान्‍य से ज्‍यादा गैस बनती है। अगर आप भी गैस की वजह से परेशान रहते हैं तो सबसे पहले आपको ये जानना चाहिए कि आखिर किस वजह से आपके पेट में इतनी गैस बनती है। 
सभी के पेट में गैस उत्‍पन्‍न करने वाला बैक्‍टीरिया होता है। ये गैस शरीर के किसी भी हिस्‍से या अंग में जा सकती है। पाद या डकार के रूप में ये गैस शरीर से बाहर निकलती है। हर व्‍यक्‍ति प्रतिदिन में लगभग 15 से 20 बार गैस पास करता है लेकिन अगर किसी को गैस की प्रॉब्‍लम इससे ज्‍यादा है तो उसके लिए ये परेशानी का सबब बन सकता है। 


यदि आप समय पर गैस की समस्‍या को ठीक नहीं करते हैं तो इसकी वजह से कोई बड़ी बीमारी हो सकती है। यहां तक कि गैस की वजह से जी मितली और पेट में दर्द भी हो सकता है। 
आज इस लेख के ज़रिए हम आपको पेट में ज्‍यादा गैस बनने के कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं। 


बहुत ज्‍यादा फाइबर खाना 


आमतौर पर हम जो खाते हैं उसे ही पेट में गैस बनने का जिम्‍मेदार माना जाता है। एक व्‍यक्‍ति को जिस फूड की वजह से गैस बनती है वो किसी अन्‍य व्‍यक्‍ति में गैस पैदा नहीं करती। सभी के शरीर में हर बीमारी का कारण और खाद्य पदार्थ का प्रभाव अलग-अलग होता है लेकिन फाइबरयुक्‍त आहार ऐसा एक कारण है जो अमूमन सभी के लिए गैस की परेशानी पैदा करता है। 


साबुत गेहूं, ताजे फल और ब्रोकली, बंदगोभी आदि में फाइबर बहुत ज्‍यादा मात्रा में होता है। अत्‍यधिक मात्रा में इनका सेवन करने से पेट में गैस बन सकती है। 


बार-बार ज्‍यादा भोजन करना 


वसायुक्‍त आहार पचने में बहुत समय लेता है और इस वजह से ये पेट में ही पड़ा रहता है। ऐसी स्थिति में गैस ज्‍यादा बनने लगती है। जल्‍दी-जल्‍दी खाने से हवा अधिक निगलने की संभावना रहती है जो कि गैस का कारण बनता है। 


अगर आप गैस की परेशानी से छुटकारा पाना चाहते हैं तो वसायुक्‍त भोजन और बार-बार खाने की आदत को छोड़ दें। 


खाना खाते ही आराम करना 


ज्‍यादातर लोग स्‍वादिष्‍ट भोजन करने के बाद आराम फरमाना पसंद करते हैं। ऑफिस में सीट पर लंच किया और फिर वहीं बैठ गए। 


पाचन तंत्र को दुरुस्‍त रखने और गैस से छुटकारा पाने के लिए आपको खाना खाने के बाद नियमित चलने की आदत डालनी चाहिए। खाना खाने के बाद चलने से भोजन आसानी से पच जाता है और गैस नहीं बनती है। दिन और रात, दोनों समय के भोजन के बाद 10 मिनट पैदल चलना जरूरी होता है। इससे भोजन आसानी से पच जाता है।


गट बैक्‍टीरिया 


गैस बनने की जड़ बैक्‍टीरिया है। पेट के बैक्‍टीरिया को बढ़ावा देने से पेट में गैस पैदा करने वाले कुछ बैक्‍टीरिया बनने में मदद मिल सकती है। प्रोबायोटिक्‍स की मदद से इस मुश्किल को दूर किया जा सकता है। आप ऐसे फूड्स खाएं जिनमें प्रोबायोटिक्‍स उच्‍च मात्रा में मौजूद हों, जैसे कि ग्रीक योगर्ट। 


हवा निगलने के कारण 


हर व्‍यक्‍ति खाते और पीते थोड़ी मात्रा में हवा निगलता है। च्‍युंइगम चबाने, कार्बोनेटेड ड्रिंक्‍स पीने, बहुत जल्‍दी खाने, सिगरेट पीने के कारण पेट में गैस बन सकती है। डकार लेने या गैस पास करने पर भी ये निगली हुई हवा पेट से बाहर नहीं निकल पाती है। 


कई बार पाचन से संबंधित किसी बीमारी के कारण भी पेट में अधिक गैस बनने लगती है जिनमें जीईआरडी भी शामिल है। अगर आपको लगातार पेट में गैस बनने की शिकायत हो रही है तो आपको तुरंत डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिए। 


वैसे तो पेट में गैस बनना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन छोटी-छोटी बातों को ध्‍यान में रखकर और अपने जीवन में उचित बदलाव एवं संतुलित आहार को अपनाकर आप पूरी तरह से गैस से छुटकारा पा सकते हैं। 
जिन लोगों के पेट में अधिक गैस बनती है उन्‍हें हमेशा अपने साथ ऐसी चीज़ें रखनी चाहिए जो तुरंत गैस से राहत दिलाती हों। मिनटों में गैस से छुटकारा दिलाने वाली चीज़ों में Gas-o-fast का नाम भी शामिल है। 


Gas-o-fast एसिडिटी, पेट में गैस और खट्टी डकार आने जैसी पाचन से संबंधित परेशानियों से राहत दिलाने में कारगर है। जब कभी भी पेट में गैस बनने लगे तो तुरंत Gas-o-fast लें। 
 




Your Thoughts